India Latest News

सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

जैसा कि आप सब लोग जानते ही हैं आज का युग आधुनिक हो गया है सब टेक्नोलॉजी के ऊपर विश्वास करने लग गए हैं। सभी को नई-नई टेक्नोलॉजी पसंद आती है। आज हम इसी के बारे में चर्चा करेंगे आज हम चर्चा करेंगे कि आप टेक्नोलॉजी को कैसे यूज़ करना चाहिए। और क्यों आजकल सभी के हाथ में एक छोटा सा डिवाइस होता है। जिसको हम मोबाइल के नाम से जानते हैं इसमें हम को सभी प्रकार की सुविधाएं मिलती हैं हम किसी भी इंसान से संपर्क कर सकते हैं। सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

कुछ ही सेकंड के अंदर और आप सबको पता है कि इसमें क्या-क्या खूबियां होती है। मुझे इसके बारे में आपको डिटेल में इंफॉर्मेशन देने की जरूरत नहीं है। पर मेरा आपसे एक सवाल है क्या आपका मोबाइल न्यू है या आपने सेकंड हैंड लिया है। अगर आपने नया मोबाइल लिया है तो बहुत अच्छी बात है। उसमें आपको बिल्कुल फ्रेश बॉडी मिलती है । फ्रेश बैटरी मिलती है टच स्क्रीन सब कुछ फ्रेश मिलता है । अगर आपने मोबाइल को सेकंड हैंड लिया है तो आप कुछ पैसे बचाने के चक्कर में अपना बहुत नुकसान कर सकते हैं ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

मैं यह नहीं बोल रहा हूं कि सारे सेकंड हैंड मोबाइल खराब होते हैं या गलत होते हैं । पर मैं कुछ फैक्ट के बारे में बात करूंगा जिनको आप को ध्यान में रखकर सेकंड हैंड मोबाइल खरीदना चाहिए ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

1-पुरानी बैटरी  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

जैसा आप सब जानते ही हैं जब आप कोई सेकंड हैंड मोबाइल लेते हैं तो उसके साथ कोई नई बैटरी आपको नहीं प्रोवाइड करता । उसके साथ आपको पुरानी बैटरी ही मिलेगी । जो इस मोबाइल सेट के साथ आई होगी । अब इसके बारे में हम कुछ बातें जानते हैं । पुरानी बैटरियों के क्या नुकसान होते हैं ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

जब मोबाइल की बैटरी पुरानी हो जाती है तो वह आपको कम बैटरी बैकअप प्रोवाइड करती है । जब मोबाइल की बैटरी पुरानी हो जाती है तो वह बहुत टाइम लेती है चार्जिंग में । जब मोबाइल की बैटरी पुरानी हो जाती है तो उससे आपकी जान को भी खतरा हो सकता है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

क्योंकि उसमें से एक एसिड निकलना शुरू हो जाता है । जब मोबाइल की बैटरी पुरानी हो जाती है तो वह बीच के हिस्से से फूल जाती है । जो बैटरी खराब होने की निशानी होती है जब मोबाइल की बैटरी फूल जाती है या पुरानी हो जाती है तो उसके फटने का बहुत डर बना रहता है । आप पुरानी मोबाइल की बैटरी को चार्ज करने में बहुत टाइम तक मोबाइल को चार्जिंग पर लगाए रखते हो जिससे मोबाइल फटने का डर बना रहता है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

2-पुरानी स्क्रीन  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

जब आप कोई पुराना मोबाइल लेते हैं तो उसके साथ आपको पुरानी स्क्रीन मिलती है । जो मोबाइल के साथ बिल्ड होती है जो आउट ऑफ वारंटी होती है । और हो सकता है वह ओरिजिनल भी ना हो क्योंकि ज्यादातर पुराने मोबाइल में स्क्रीन डुप्लीकेट लगाई जाती है । जब वह खराब हो जाती है जिससे आपको क्लियर इमेज नहीं मिलती है । स्क्रीन में अब पुरानी स्क्रीन या डुप्लीकेट स्क्रीन का नुकसान होता है । कि उसमें आपकी आंखों को ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है किसी भी चीज को पढ़ने के लिए, किसी भी चीज को देखने के लिए जिससे आपकी आंखों की रोशनी कम हो जाती है । जो मोबाइल के साथ ओरिजिनल स्क्रीन आती है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

वह ह्यूमन फ्रेंडली आईज फ्रेंडली होती है हां यह बात है कि उसमें भी आंखों को नुकसान होता है । पर इतना नहीं होता जितना डुप्लीकेट स्क्रीन में होता है । तो पुराने मोबाइल को लेते वक्त उससे यह बात जरूर कर लें कि स्क्रीन ओरिजिनल है या डुप्लीकेट है । जहां तक मेरा मानना है वह कभी आपको सच्चाई नहीं बताएगा । वह हमेशा बोलेगा कि स्क्रीन ओरिजिनल है इस झूठ से बचने के लिए आपको खुद ही मोबाइल की जांच पड़ताल करनी होगी ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

आपको देखना होगा जो मोबाइल में स्क्रू लगे हुए हैं । उन पर कंपनी की सील लगी हुई है या नहीं । अगर कंपनी की सील लगी हुई है तो इसका मतलब मोबाइल अभी तक रिपेयर नहीं हुआ है । खोला नहीं गया है । अगर उसमें कंपनी की सील नहीं लगी हुई है इसके ऊपर । तो इसका मतलब मोबाइल में कुछ ना कुछ फेरबदल किया गया है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

3-पुरानी बॉडी  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

जब आप कोई भी नया मोबाइल लेने जाते हैं तो उसके साथ आपको नहीं बॉडी मिलती है जिसमें आपको अच्छे ग्रुप मिलती है । जो हाथ से फिसलती नहीं है जो आपके मोबाइल को एक अच्छा लुक देती है जो आपके मोबाइल को सुंदर बनाती है और जब आप कोई पुराना मोबाइल लेते हैं । तो उसमें आपको पुरानी बॉडी मिलती है जिसमें आपको ग्रुप नहीं मिलती जिससे आपके मोबाइल जिससे आपके हाथ से मोबाइल गिरने का खतरा बना रहता है । और इसके बचाव के लिए आपको मोबाइल के लिए कवर लेना पड़ता है जो आपकी कृपा बनाए रखता है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

जिससे आपके हाथ से मोबाइल ना करें और अगर पुरानी बॉडी के कारण मोबाइल हाथ से फिसल कर जमीन पर गिर जाए तो उसमें बहुत सारा नुकसान आप को उठाना पड़ सकता है । उसकी स्क्रीन डैमेज हो सकती है उसमें कोई इंटरनल फॉल्ट हो सकता है मोबाइल बिल्कुल ही खराब हो सकता है तो इन सब बातों बातों को ध्यान में रखकर आप अपना डिसीजन ले

4-पुराना कैमरा मिलता है

जब आप कोई नया मोबाइल लेने जाओगे तो आपको उसके साथ बिल्कुल न्यू कैमरा मिलेगा इनबिल्ड कैमरा मिलेगा अच्छी क्वालिटी का कैमरा मिलेगा जिससे आप क्लियर पिक्चर ले सकते हो नए नए फीचर्स के साथ कैमरा मिलेगा । पर जब आप कोई पुराना मोबाइल लेते हो तो आपको वही पुराना कैमरा मिलता है जिसमें स्क्रैच लगे हुए होते हैं जो क्लियर फोटोस नहीं लेता

। इन सब बातों का ध्यान आप तब नहीं करोगे जब आप मोबाइल खरीदोगे पर इन इन बातों का ध्यान आपको तब आएगा जब आप अपने खूबसूरत पल को अपने मोबाइल में कैद करना चाहोगे । तब आपको लगेगा कि इस का कैमरा बिल्कुल बेकार है  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

। इसमें फोटो क्लियर नहीं आती । तो इससे पहले आपको अफसोस हो । आप इन सभी बातों का ध्यान रखकर अपना डिसीजन ले आप जब भी कोई पुराना मोबाइल खरीदने जाए तो सबसे पहले उसकी बैटरी का चेकअप करें । देखें कहीं से वह फूली हुई तो नींद नहीं है उसकी बॉडी को देखें कहीं से टूटी हुई तो नहीं है । उसकी स्क्रीन को देखें डुप्लीकेट स्क्रीन तो नहीं है । और उसके कैमरे को देखें कैमरे को चला कर देखें उसमें पिक्चर क्लियर आती है या नहीं आती है जिससे आपके खूबसूरत पल कहीं खो ना जाए ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

5-कहीं से चुराया हुआ तो नहीं हैसेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

बहुत कम लोग होते हैं कि जो इस बात पर ध्यान देते हैं । पर यह सबसे महत्वपूर्ण बात होती है जब भी आप कोई पुराना मोबाइल लेने जाते हैं तो सबसे पहले उसका बिल चेक करें । कि वह मोबाइल उस व्यक्ति का है या नहीं क्योंकि अगर वह मोबाइल चुराया हुआ हो तो आपको भविष्य में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है । हां हम मानते हैं कि आपको जब कोई अच्छा मोबाइल सस्ते दाम में मिलता है तो आप इन चीजों पर ध्यान नहीं देते ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

पर यही बात सोचने वाली है कि कोई अपना इतना अच्छा मोबाइल हम इतने सस्ते दाम में क्यों देगा । उस में कुछ ना कुछ गड़बड़ है । अगर आपने वह मोबाइल खरीद लिया है और वह मोबाइल चोरी का निकला । और उसके पुराने मालिक ने अगर कंप्लेन की हुई है पुलिस हेड क्वार्टर में । तो पुलिस का शिकंजा आप पर फंस जाएगा । और आप नहीं चाहोगे कि एक मोबाइल के कारण आपको जेल के चक्कर काटने पड़े और परेशानियों का सामना करना पड़े ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

Read also: What is Nipah Virus Causes and Cure-In Hindi

हो सकता है वह मोबाइल किसी खूनी का हो ।हो सकता है वह मोबाइल जिसका हो उसने किसी का खून किया हो। हो सकता है वह मोबाइल जिसका हो उसका खून हो गया हो । तो इससे पहले कि आप वह मोबाइल खरीदें उसको व्यक्ति को पैसे दें । आप उस मोबाइल का परचेसिंग बिल जरूर चेक करें इससे आपको फ्यूचर में कोई परेशानी नहीं होगी । और जिससे भी आपका मोबाइल ले रहे हैं उसका नाम और पता अपने पास जरूर रखें ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

6-चार्जर नहीं मिलता  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

देखा गया है आपको पुराने मोबाइल के साथ उसका ओरिजिनल चार्जर नहीं मिलता । अब आप यह बोलोगे कि यह तो बहुत मामूली सी बात है । चारजर आप कोई सा भी यूज़ कर सकते हैं । पर यह भी बहुत महत्वपूर्ण बात है । क्योंकि अगर आप उस मोबाइल में उस कंपनी का उसे ही ब्रांड का चार्जर नहीं लगाओगे तो आपके मोबाइल को खतरा हो सकता है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

मोबाइल की बैटरी कभी भी डैमेज हो सकती है मोबाइल में और भी डैमेज हो सकता है । और सबसे बड़ी बात मोबाइल आपके लिए भी हानिकारक हो सकता है । अगर मोबाइल में ज्यादा मात्रा में चार्जिंग जा रही है तो हर रेडिएशन फैलाना स्टार्ट कर देता है और उसकी बैटरी फूलने स्टार्ट हो जाती है । जिससे कि जब आप मोबाइल का यूज करेंगे जब आप मोबाइल से बात करेंगे तो वह उसका फटने का डर बना रहता है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

तो अगर आपको अभी भी कोई पुराना मोबाइल खरीदना है तो सबसे पहले उसका ओरिजिनल चार्जर मांगे उस फ्रेंड का चार्जर उसी कंपनी का चार्जर उसी मॉडल का चार्जर होना चाहिए । जिससे कि उस मोबाइल में लगी बैटरी को जितनी मात्रा में पावर चाहिए वह उसको उसी मात्रा में पावर उपलब्ध कराएं इससे मोबाइल के फटने का डर नहीं रहता और वह कम रेडिएशन भी छोड़ता है । हालांकि हर मोबाइल रेडिएशन छोड़ता है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

Also read: Best Business to Go with Online or Offline

पर वह बहुत कम मात्रा में होता है जिससे कि ह्यूमन बॉडी को इतना नुकसान नहीं होता । पर अगर आप इन बातों का ध्यान नहीं रखेंगे तो हो सकता है वह ज्यादा रेडिएशन छोड़ना स्टार्ट कर दें । जिससे आपके दिल को नुकसान हो सकता है । और आपके छोटे बच्चों को ज्यादा कर । वह दिनभर मोबाइल में लगे रहते हैं । जभी भी आपका मोबाइल फ्री होगा वह गेम खेलने लग जाते हैं । और गेम खेलते वक्त मोबाइल को काफी ज्यादा काम करना पड़ता है । जिससे उसकी बैटरी से ज्यादा मात्रा में पावर कंस्यूमर होती है । और उसके ब्लास्ट होने का डर बना रहता है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

7-ओरिजिनल एयरफोन नहीं मिलतेसेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

हां यह भी एक सत्य है । कि जब भी आप एक पुराना मोबाइल खरीदने जाओगे तो उसके साथ उस कंपनी का एयरफोन बहुत कम चांस होते हैं । मिल जाए या आपको उस कंपनी का एयरफोन खुद से खरीदना पड़ेगा । और ओरिजिनल एयरफोन काफी महंगे मिलते हैं ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

Also read: भारत के अगले प्रधान मंत्री कौन होंगे?

मैं इस बात पर क्यों यूज़ जोड़ दे रहा हूं क्योंकि रिसर्च से पता चला है । कि जब भी आप मोबाइल फोन में बात करें तो एयरफोन के द्वारा करें इससे आपका मोबाइल आपके दिल से और आप के दिमाग से काफी दूर बना रहता है । इससे जब आप फोन पर बात करते हैं तो उसका रेडिएशन आपके शरीर के अंगों को नुकसान नहीं पहुंचाता । यह एक सत्य बात है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

कि जब आप मोबाइल से बात करते हैं तब मोबाइल सबसे ज्यादा रेडिएशन छोड़ता है । क्योंकि उसको सिग्नल को कैच करना होता है । इसके कारण मोबाइल और भी मात्रा में रेडिएशन छोड़ना स्टार्ट कर देता है । जिससे आपके हृदय में और दिमाग में दिक्कत आ सकती है । और अगर आपको मोबाइल के साथ ओरिजिनल एयर फोन नहीं मिल रहा है ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

तो आप मोबाइल को मत लीजिएगा क्योंकि अगर आपने कोई डुप्लीकेट एयर फोन ले लिया तो वह आपके कानों को नुकसान पहुंचा सकता है । कि जो डुप्लीकेट एयरफोन होते हैं वह आवाज को सही मात्रा में नहीं भेज पाते । किसी एक फोन में आवाज तेज आती है किसी और फोन में आवाज कम आती है इस बात का भी ध्यान रखें कि जब भी आप मोबाइल खरीदें तो उस कंपनी का ओरिजिनल इयरफोन ही खरीदें । क्योंकि उस ओरिजिनल एयर फोन पर बहुत दिनों की टेस्टिंग की जाती है उस मोबाइल हैंडसेट के साथ ।

Also Read: क्या यह हत्या है या आत्महत्या है?

ध्यान रहे  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

हां यह बातें बोलने में बहुत आसान होती है । कि मैंने अगर पुराना मोबाइल ले लिया तो क्या हो गया  ।मुझे अगर एयर फोन नहीं मिला तो क्या हो गया । मुझे अगर ओरिजिनल चार्जर नहीं मिला तो क्या हो गया । मुझे अगर ओरिजिनल स्क्रीन नहीं मिली तो क्या हो गया ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

मुझे अगर ओरिजिनल बैटरी नहीं मिली तो क्या हो गया । अगर मोबाइल में कुछ छोटी सी दिक्कत है तो क्या हो गया । मुझे मोबाइल इतने सस्ते में मिल रहा है तो मैं क्यों ना लूं । पर अगर आप आज इस लालच में फंसे तो आपको अपने भविष्य में उसका भुगतान करना पड़ेगा ।

तो इससे अच्छा है कि आप ओरिजिनल मोबाइल ही खरीदें । ओरिजिनल सामान ही खरीदें । इस आर्टिकल का तात्पर्य है कि आप कभी भी डुप्लीकेट चीजों पर भरोसा मत करें । हमेशा ओरिजिनल चीजें ही खरीदें । भले ही वह थोड़ी महंगी पड़ती है पर ओरिजिनल ओरिजिनल ही होता है ।

और डुप्लीकेट डुप्लीकेट ही होता है । और एक बात मोबाइल में कभी भी बात करें तो एयरफोन के द्वारा करें । मोबाइल को हमेशा अपने से दूर रखें । मोबाइल को कभी भी अपने हृदय के पास मत रखें । मोबाइल को बच्चों के हाथों में मत दे । मोबाइल में कभी भी मूवी मत देखें ।  सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

और ड्राइव करते हुए कभी भी एयर फोन कान में मत लगाए रखें । अगर आप इन सभी बातों का ध्यान रखेंगे तो मोबाइल आपके लिए एक सहायता का जरिया बनेगा । और अगर आप इनमे से कुछ भी बात का उल्लंघन करेंगे तो मोबाइल आपके जीवन के लिए संकट भी बन सकता है ।

Also Read: क्या नरेंद्र मोदी को आप दोबार प्रधानमंत्री बनाओगे?

6 Replies to “सेकंड हैंड मोबाइल क्यों नहीं खरीदना चाहिए?

  1. Hello there! This blog post couldn’t be written any better!
    Going through this article reminds me of my previous roommate!
    He always kept talking about this. I will forward this post to
    him. Pretty sure he’ll have a good read. Thank you for sharing!

  2. Just want to say your article is as amazing.
    The clearness on your post is just great and that i can think
    you are a professional on this subject. Fine together with your permission allow me to take hold of your
    RSS feed to keep updated with coming near near post. Thanks a million and please
    keep up the enjoyable work.

  3. I believe that is among the such a lot significant information for me.
    And i’m happy reading your article. But wanna commentary on some
    general issues, The web site style is wonderful, the articles is actually
    great : D. Excellent activity, cheers

  4. Heⅼlo, Neat post. There is a problem with үour site in web exploгer, may check this?
    IE stіll is the marketplace leɑder and а huge part of other
    folks will leave out your great writing due to tһis рrobⅼem.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *